• Monday, May 23, 2022

    नरभक्षी शैतान ने जब हमें देखा तो - Real Horror Story in Hindi

     नरभक्षी शैतान ने जब हमें देखा तो -  Real Horror Story in Hindi

    नरभक्षी शैतान ने जब हमें देखा तो -  Real Horror Story in Hindi
    Hello Dosto, आज मैं जोआपको कहानी सुनाने जा रही हूँ। Real Horror Story in Hindi नरभक्षी शैतान ने जब हमें देखा तो । ये एक सच्ची कहानी है। मुझे उम्मीद है यह कहानी आपको बहुत अच्छी लगेगी।

    मेरा नाम Ritesh है, मैं Gujarat के एक गांव Thoriyali का रहने वाला हूं। मैं आपको अपने साथ घटी एक सच्ची घटना के बारे में बताना चाहता हूं। यह कई साल पहले की बात है जब हम रोज शाम को 5:00 से 7:00 के बीच मछली पकड़ने के लिए जाते थे।

    मेरे साथ मेरे चचेरे भाई आशीष और राकेश और उन दोनों के papa भी जाया करते थे, एक दिन हमने notice किया कि 7:00 बजे के बाद मछलियां ज्यादा आती थी, तो हम लोग दो-तीन दिन शाम 7:30 बजे तक वहां रुक के मछलियां पकड़ने लगे। लेकिन फिर कुछ दिन बाद, एक दिन ऐसा हुआ कि एक भी मछली हमारे कांटे में नहीं फसी।


    Also read - नदी किनारे चुड़ैल को देखा हम चारो ने - Chudail Story

    मछलियां पकड़ते पकड़ते हमें बहुत देर हो गई बाकी के सब लोग घर वापस जाने के लिए जोर देने लगे लेकिन हम नहीं माने, तो वह लोग वहां से चले गए। अब हम सिर्फ 3 लोग ही वहां पर बच्चे थे, मैं आतिश और उसके papa, फिर हम वहा मछली पकड़ने बैठे तो थोड़ी देर बाद हमने इतनी मछलियां पकड़ली जितनी हमेंने आज तक नहीं पकड़ी थी.

    तभी मेरा ध्यान सामने की तरफ गया तो मुझे सामने से एक औरत हमारी तरफ आते दिखाई दी। उस वक्त हम जिस जगह मौजूद थे, वहां शाम के time कोई आदमी तक नहीं आता था, तो किसी औरत के वहा आने का मतलब ही नहीं था। मैंने आतिश और उसके पापा को बताया ,तो उन्होंने उस तरफ देखा तो उनको वहां तीन औरतें आते दिखाई दी लेकिन मुझे तो बस एक ही औरत दिखाई दे रही थी।
    Real Horror Story in Hindi
    धीरे-धीरे वह औरत हमारे नजदीक आती गई और अचानक एक भालू के आकार में बदल गई, उसको देख कर हमारे पसीने छूट गए वह कोई इंसान थी या जानवर समझ में नहीं आ रहा था। हम तीनों डर के मारे हिल भी नहीं पा रहे थे, तभी आतिश के पापा उसको पकड़ के वहां से भागने लगे। लेकिन मैं अकेला था मुझे पकड़ने वाला कोई नहीं था।

    मैंने उनसे कहा कि मुझे भी अपने साथ ले चलो लेकिन वह दोनों इतना डर गए थे कि बिना कुछ देखें गिरते पड़ते वहां से भागने लगे। मैं भी उनके पीछे पीछे भाग रहा था, और फिर करीब 15 minute भागते रहने के बाद हम बाहर रोड पर पहुंच गए। वहां पहुंचकर हमारी जान में जाना आई, हमें घड़ी में time देखा तो रात के 12:00 बज चुके थे।

    हमारे घर के लोग भी कुछ गांव वालों के साथ हमें लेने के लिए वहां पहुंच गए, उन लोगों ने हमें बहुत डांट लगाई कि तुम इतनी देर तक उस जगह क्या कर रहे थे इसके बाद हम तीनों अगले 3- 4 दिनों तक बीमार रहे। लोगों ने बताया कि वह एक नरभक्षी शैतान है, जो हर दो-तीन साल में एक बार किसी को दिखाई देता है लेकिन हमारी किस्मत अच्छी थी जो हमारी जान बच गई।

    दोस्तो comment करके जरूर बताएं आपको यह कहानी (नरभक्षी शैतान ने जब हमें देखा तो -  Real Horror Story in Hindi) कैसी लगी, क्या आप के साथ ऐसा कुछ हुआ है 
    comment करके बताएं

    Also, read


    No comments:

    Post a Comment